ट्विटर पर कैसे बढाएं फ़ॉलोअर?

  • 11 मार्च 2013
जस्टिन बीबर
Image caption ट्विटर पर जस्टिन बीबर के साढ़े तीन करोड़ फॉलोअर है.

ट्विटर इस्तेमाल करने वाले तकरीबन 80 फीसदी लोगों को दस से भी कम लोग फ़ॉलो करते हैं. ज्यादातर ट्विटर एकाउंट धारक अपने फ़ॉलोअर बढ़ाना चाहते हैं. लेकिन यह इतना भी आसान नहीं है.

कुछ रिपोर्टों में कहा गया है कि नियोक्ता नौकरी देने से पहले सोशल मीडिया पर आवेदक की मौजूदगी से उसके बारे में जानकारी इकठ्ठा करते हैं.

यह भी कहा जाता है कि ट्विटर पर मौजूद कई लोग लगभग निष्क्रिय हैं.

ट्विटर पर शोध

हालांकि ज्यादातर ट्विटर इस्तेमाल करने वाले ज्यादातर लोगों का इरादा विशुद्ध रूप से दूसरे के ट्वीट को पढ़ना होता है.

अमरीका में ट्विटर से जुड़े एक शोध में इस बात पर जोर दिया गया है कि इस माइक्रोब्लॉगिंग वेबसाइट पर फ़ॉलोअर की संख्या बढ़ाने के कारगर तरीके क्या हो सकते हैं.

और क्या करने पर फ़ॉलोअर कम हो जाते हैं?

शोध के दौरान जॉर्जिया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलॉजी और युनिवर्सिटी ऑफ मिशिगन ने 500 ट्विटर खाता धारकों के एकाउंट पर 15 महीने तक नजर रखी.

Image caption वेनेजुएला के राष्ट्रपति ह्यूगो चावेज़ का अंतिम ट्विट

और इसके नतीजे कुछ इस तरह के निकले.

अगर फ़ॉलोअर कम करना चाहते हों

निराशावादी होना सबसे कारगर उपाय है. एक फ़ॉलोअर इस वजह से किसी को फ़ॉलो करना छोड़ सकता है.

अध्ययन में कहा गया है कि ट्विटर पर ज्यादा बातचीत करना भी किसी को न फ़ॉलो करने का एक कारण हो सकता है.

देखा गया है कि ट्विटर पर उदास करने वाली बातों को पसंद करने वाले कम लोग होते हैं.

टैगिंग का बेजा इस्तेमाल भी फ़ॉलोअर कम पसंद करते हैं.

और सबसे आखिर में यह कि ट्विटर पर मौजूद कोई शख्स अपने बारे में बढ़ा चढ़ाकर जब बात करने लग जाए तो उसके फ़ॉलोअर अपनी राय बदलने लगते हैं.

कैसे करे फ़ॉलोअर में इजाफा?

Image caption ट्विटर पर मशहूर लोगों के फॉलोअर की बड़ी तादाद रहती है

बड़ी संख्या में फ़ॉलोअर वाले ट्विटर एकाउंट धारको में देखा गया है कि वे अपनी अपनी पहचान भुनाने का हुनर जानते हैं.

दूसरे पेशों और अलग पृष्ठभूमियों के लोगों से बेहतर संवाद कायम करने को लेकर ये हमेशा तैयार रहते हैं.

इन्हें एक से ज्यादा भाषाएं आती हैं.

फ़ॉलोअर बढ़ाने का एक अच्छा तरीका यह भी रहता है कि ज्यादा से ज्यादा ट्वीट रिट्वीट करवाए जा सके.

कम शब्दों में स्पष्ट संवाद

ट्विटर पर मौजूद लोग सूचनाओं का प्रसार और वेबलिंक्स की शेयरिंग खूब पसंद करते हैं.

एक तरीका यह भी है कि एकांउट धारक के बारे में पूरी जानकारी ट्विटर पर मौजूद हो. मुमकिन हो तो एक वेबलिंक भी दिया गया हो.

जगह के बारे में जानकारी देना भी बेहद अहम है. 140 अक्षरों में जब बात कहनी हो तो संदेश का स्पष्ट होना भी कम महत्वपूर्ण नहीं है.

शोध में नए लोगो को फ़ॉलो करने की सलाह दी गई है और अपने फ़ॉलोअर को तो जरूर फ़ॉलो किया जाना चाहिए ताकि भरोसा मजबूत हो.

अध्ययन के मुताबिक सकारात्मक रहने और विचारों में एकरूपता बनाए रखने पर ट्विटर इस्तेमाल करने वालों के बीच अच्छा असर पड़ता है.

संबंधित समाचार